सीएम योगी
Spread the love

वाराणसी। प्रदेश में अब मंत्रियों और अफसरों को अपनी प्रापर्टी का पूरा ब्योरा सरकार से साझा करना होगा। मंगलवार को शास्त्री भवन (एनेक्सी) में हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम निर्णय लिये गये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भ्रष्टाचार पर नकेल कसने की दिशा में यह एक बड़ा फैसला माना जा रहा है।

ये भी पढ़ें: द्वितीय प्रवेश द्वार के लिए सेना से जल्द मिल जायेगी शेष जमीन: आशुतोष गंगल

कैबिनेट की बैठक में यह भी फैसला हुआ कि मंत्रियों को अपने साथ पत्नी, बच्चों और परिवार के अन्य आश्रति सदस्यों की सम्पत्ति का भी ब्योरा देना होगा। सांसद और यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सरकारी अधिकारियों के लिए यह नियम पहले से है।

ये भी पढ़ें: बिना इजाजत वीसी कार्यालय में घुसे छात्र, छात्रसंघ चुनाव में धांधली का आरोप

कैबिनेट बैठक की अहम फैसले

  • 10 लाख लीटर एचपीएलसी (हाई परफारमेंस लिक्विड क्रोमेटोग्राफी) का उत्पादन करने का निर्णय
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर स्थापित टोल प्लाजा के संचालन, टोल की वसूली, छह एंबुलेंस और 12 पेट्रोलिंग वाहनों के संचालन के लिए एजेंसी के चयन को मंजूरी
  • टोल टैक्स की दरें अधिसूचित की जाएंगी, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर टोल की वसूली 1 मई से शुरू होगी। 222 करोड़ में निविदा हुई है।
  • कैबिनेट मंत्री बेबी रानी मौर्य, धर्मपाल सिंह, जयवीर सिंह और योगेंद्र उपाध्याय समिति के सदस्य होंगे।
Jansandesh News

By Jansandesh News

जनसन्देश टाइम्स - परख सच की जनसंदेश टाइम्स भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चलने वाला सबसे लोकप्रिय दैनिक हिंदी अखबार और डिजिटल चैनल है। जहाँ हम राजनीति, मनोरंजन, स्वास्थ्य, खेल, शिक्षा और कई अन्य क्षेत्रों से जुडी नवीनतम समाचार अपडेट आपके साथ साझा करते है। यह टीम जनसंदेश टाइम्स का एक सामूहिक प्रयास है, इसलिए जनसंदेश टाइम्स पिछले 10 वर्षों से भी अधिक समय से आपतक देश दुनिया की हर खबर पहुँचाता रहा है और ये सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.