aryan-khan
Spread the love

मुंबई: क्रूज़ पार्टी ड्रग्स के ममले में आर्यन खान ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के अफसरों के सामने कबूल किया हैं कि वह चरस का सेवन करता है. उसका दोस्त क्रूज पर नशे में पार्टी करने के लिए अपने जूतों में 6 ग्राम चरस छिपाकर लग्जरी क्रूज पर लाया था.

2 अक्टूबर की रात को लग्जरी क्रूज पर NCB ने छापा मारा था, छापेमारी से जुड़ीं बेहद ज़रूरी जानकारी सामने आई है. जब NCB के अधिकारियों ने अरबाज मर्चेंट से पूछताछ की, तो उसने बताया था कि उसने अपने जूतों में ड्रग्स छिपाकर रखा हुआ है. बाद में अरबाज ने खुद अपने जूतों से चरस का पाउच निकाल कर दिखा दिया था.

NCB अधिकारियों ने आर्यन से पूछा तो उसने स्वीकार किया कि वो चरस का सेवन करता है और ये चरस क्रूज पर नशे के लिए ले जा रहे थे. वहीं अरबाज ने भी स्वीकार किया कि वह आर्यन खान के साथ चरस का सेवन करता है.

क्रूज पर छापे की ये डिटेल NCB के पंचनामा के आधार पर है.

पंचनामा होता क्या हैं?

पंचनामा वह प्रक्रिया है जिसके जरिये जांच एजेंसी क्राइम सीन से शुरुआती रिकॉर्ड और सबूत को जमा करती है. इस बीच पुलिस या जांच एजेंसी गवाहों के बयान को रिकॉर्ड करती है. इसे तैयार करने के दौरान पुलिस या जांच एजेंसी कुछ नागरिकों को लेकर जाती है, ताकि वे जांच एजेंसी की कार्यवाई के चश्मदीद बन सके.

इस मामले में NCB के पंचनामे में दो पंचों का जिक्र है. किरण गोसावी और प्रभाकर रोघोजी सेन इस पंचनामे के पन्ने की संख्या 6 में आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट का जिक्र है.

पंचनामा के अनुसार पहले NCB के आफिसर आशीष रंजन प्रसाद के पूछे जाने पर आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट ने अपना नाम बताया. उसके बाद NCB अधिकारी ने पूछताछ की वजह भी उन्हें बताई.

जिसके बाद आशीष रंजन प्रसाद ने आर्यन और अरबाज़ को NDPS एक्ट 1985 की धारा 50 के प्रावधान दोनों युवकों को समझाए. NCB ने दोनों को ये भी विकल्प दिया कि अगर वो चाहे तो उनकी तलाशी गजेटेड अधिकारी या फिर मजिस्ट्रेट की देख रेख में हो तो ऐसा भी हो सकता है, लेकिन दोनों ने इस अनुरोध को स्वीकार नहीं किया.

फिर तलाशी की कार्यविधि शुरू हुई. पंचनामे के हिसाब से अधिकारी ने पूछा कि क्या उनके पास किसी तरह का नारकोटिक्स ड्रग्स है? जिसके जवाब में दोनों ने अपने पास प्रतिबंधित ड्रग्स की मौजूदगी को स्वीकार किया.

पंचनामा कहता है कि, अरबाज मर्चेंट ने NCB अधिकारियों को कहा है कि उसके जूतों में चरस है. इसके बाद अरबाज ने अपने जूतों में रखे एक जिप लॉक पाउच को स्वेच्छा से निकाला.

इस जिप लॉक के अंदर काले रंग का चिपचिपा पदार्थ था. डीडी किट से इसकी जांच की गई तो पता चला की ये चरस है.

पंचनामे के अनुसार अरबाज ने स्वीकार किया कि वह आर्यन के साथ चरस का सेवन करता है और वे इस क्रूज सफर पर धूम मचाने के लिए जा रहे थे.

आगे पंचनामें में लिखा गया है कि, जब आर्यन खान से पूछताछ की गई तो उसने भी स्वीकार किया कि वह भी चरस का सेवन करता है और ये चरस क्रूज पर सफर के दौरान स्मोकिंग के लिए थी. इस चरस का वजन 6 ग्राम था.

इसके बाद जिपलॉक पाउच को सील कर दिया गया. इसपर NCB सील नंबर 3 लिखा गया.

खुफिया सूचना से मिली जानकारी के अनुसार

NCB को जानकारी मिली थी कि कॉरडेलिया क्रूज पर रेव पार्टी होने जा रही है, जहां ड्रग्स इस्तेमाल किया जाना है. इसलिए जांच अधिकारी आशीष प्रसाद ने उपर लिखे गए दोनों पंचों से कहा था कि वे सर्च के दौरान मौजूद रहे.

NCB टीम टर्मिनल बिल्डिंग में जा रही थी तो उस वक्त CISF की एक महिला ऑफिसर भी उनके साथ थी.

2 thoughts on “Aryan Khan ने किया चरस का सेवन, दोस्त अपने जूते में छुपा कर लाया था पैकेट”

Leave a Reply

Your email address will not be published.